technology

[Technology][bleft]

Health

[Healthcare][bleft]

Business

[Business][bleft]

Network Marketing

[Network Marketing][bleft]

Safir Zeniq Token: स्कैम या लीगल??

 

ऐसी कंपनियों से दूरी बनाये रखें!



क्या Zeniq Safir स्कैम हैं?




नेटवर्क मार्केटिंग या एमएलएम इंडस्ट्री में क्रिप्टोकरेंसी एक स्कैम करने का जरिया बन चूका हैं. ऐसे कई क्रिप्टोकरेन्सी स्कैम कम्पनीज रोज मार्किट में आ रही हैं.


लोगों में, खासकर भारतीय लोगों में, क्रिप्टोकरेन्सी के बारे में जानकारी या ज्ञान के अभाव की वजह से ऐसी कंपनियां फायदा उठाकर ठगने का काम करती हैं.


 बिटकॉइन,एथेरेयम, ट्रोन जैसी क्रिप्टोकरेन्सी से कम समय में होनेवाले प्रॉफिट को बढ़ाचढ़ाकर पेश करने का काम ऐसी स्कैम कंपनियां करती हैं और अपने कचरा टोकन या कॉइन लोगों के मत्थे चढ़ती हैं.


ऐसी कंपनियों के सीरीज में Safir Zeniq का नाम जुड़ सकता हैं. Safir Zeniq कंपनी का विश्लेषण करने के बाद ऐसे कई सवाल उठाते हैं क्या यह भी एक क्रिप्टोकरेन्सी एमएलएम स्कैम हैं? 


आइये समझते हैं Safir Zeniq के बारे में...!



क्या ZENIQ Technology legal कंपनी हैं?


ZENIQ Technology दुबईस्थित लीगल कंपनी हैं जो DIFC (Dubai International Financial Center) द्वारा लाइसेंस प्राप्त होने का दावा करती हैं. लेकिन क्या DIFC (Dubai International Financial Center) एक सरकारी अथॉरिटी हैं? बिलकुल नहीं!


DIFC (Dubai International Financial Center) एक financial hub या स्पेशल इकनोमिक जोन (SEZ) या FREE Zone हैं. यह SEZ/Free Zone बिज़नेस envoronment प्रदान करने का काम करता हैं. यह केवल एक लाइफस्टाइल और बिज़नेस डेस्टिनेशन हैं. बिज़नेस के लिए जरुरी स्पेसेस, इंफ्रास्ट्रक्चर तथा बिज़नेस अट्मॉस्फेअर बनाने का काम करती हैं. इसे दुबई गवर्नमेंट की अथॉरिटी नहीं कहा जा सकता.


क्या Zeniq Safir स्कैम हैं?



Safir भी DMCC (Dubai Multi Commodities Centre) एक financial hub या स्पेशल इकनोमिक जोन (SEZ) या FREE Zone हैं. यह SEZ/Free Zone कमोडिटी एक्सचैंजेस से जुड़ा बिज़नेस envoronment प्रदान करने का काम करता हैं.


Safir कंप्यूटर हार्डवेयर के क्षेत्र में काम करने वाली कंपनी होने का दावा करती हैं. जिसका DMCC में रजिस्ट्रेशन बिलकुल होना बिलकुल भी तर्कसंगत नहीं लगता. 


यदि कोई दावा करता हैं कि, Zeniq Technology या Safir कंपनी दुबई गवर्नमेंट अथॉरिटी द्वारा पंजीकृत हैं तो यह बिलकुल गलत हैं. हमने दुबई गवर्नमेंट अथॉरिटी की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर इसकी पुष्टि की हैं, वहां यह दोनों भी कंपनी रजिस्टर्ड नहीं हैं. (नीचे दिया गया स्क्रीनशॉट देखिये)



क्या Zeniq Safir स्कैम हैं?



क्या Zeniq Safir स्कैम हैं?



क्या Zeniq द्वारा किये जानेवाले कई दावे झूठे हैं?


ZENIQ Technology एक फाइनेंसियल टेक्नोलॉजी (FinTech) कंपनी होने का दावा कंपनी कर रही हैं. कंपनी ZENIQ Technology द्वारा digital payment systems के क्षेत्र में अपने ग्राहकों की सुविधा के लिए ज्यादा से ज्यादा सॉफ्टवर्स और एप्लीकेशन्स बनाने का दावा भी किया जा रहा हैं.


लेकिन मेरी अपनी राय इससे बिलकुल भी अलग हैं. यहां शक को गुंजाइश इसलिए बन रही हैं कि, कंपनी जो बोल रही हैं वह कितना सत्य हैं...!



सच या झूठ? क्या सच में Zeniq क्रिप्टोकरेन्सी कॉइन हैं?


http://zeniq.com वेबसाइट पर हर जगह Zeniq कॉइन होने की पब्लिश की गयी हैं. जबकि Zeniq एक टोकन हैं जो एथेरेयम की ब्लॉकचैन पर बनाया गया हैं.


यह बिलकुल एक सामान्य टोकन हैं जिसे हर कोई creat कर सकता हैं. मगर कंपनी फिर भी कॉइन होने के झूठ दावे कर रही हैं.




क्या Zeniq Safir स्कैम हैं?



सामान्यतः मींटिंग टोकन का ही हो सकता हैं. कॉइन का माइनिंग होता हैं. इसका स्पष्ट अर्थ यह हैं कि, कंपनी द्वारा यह कॉइन होने की बात झूठ हैं. 


यदि कंपनी का माइलस्टोन सही भी मान लिया जाये तो क्या 3 वर्षों में Zeniq टोकन को Zeniq कॉइन में कन्वर्ट करना कोई राकेट साइंस थोड़े हैं? इतनी बड़ी(?) कंपनी 2018 से लेकर 2021 तक यह काम क्यूं नहीं कर पायी? अपने आप से यह सवाल पूछिए...!



सच या झूठ? Zeniq Hub कितना जरुरी?



क्या Zeniq Safir स्कैम हैं?



जैसे की Zeniq एक टोकन हैं जिसे मींटिंग किया जा सकता हैं. मींटिंग के लिए किसी भी प्रकार के हार्डवेयर की जरुरत नहीं होती हैं. कई सारी टोकन मींटिंग करनेवाली कंपनियां अपने टोकन का मींटिंग करने के लिए हार्डवेयर का इस्तेमाल नहीं करती. माइनिंग के लिए हार्डवेयर जरुरी होता हैं और माइनिंग कॉइन का होता हैं, टोकन का नहीं!


तो क्या Zeniq Hub केवल एक दिखावा हैं? जी हां, Zenic Technology इस हार्डवेयर को 500 यूरो में बेच रही हैं, जिसकी बिलकुल जरुरत नहीं हैं. 



सच या झूठ? कंपनी माइलस्टोन कितना सच?


क्या Zeniq Safir स्कैम हैं?



कंपनी ने अपनी वेबसाइट पर लिखा हैं कि, Zeniq coin जुलाई 2020 में शुरू किया हैं. जबकि, कंपनी का रजिस्ट्रेशन 24 मई 2021 का हैं...! (नीचे दिया गया स्क्रीनशॉट देखिये)



क्या Zeniq Safir स्कैम हैं?



या तो कंपनी द्वारा वेबसाइट पर पब्लिश किया गया "माइल स्टोन" महज एक दिखावा हैं. कंपनी इनकारपोरेशन होने के 3 वर्ष पहले सारे प्रोजेक्ट पर काम शुरू किया ऐसा अगर कंपनी का कहना हैं तो यह बात कितनी सही हो सकती हैं? आप ही सोचिये.



क्या Zeniq Safir स्कैम हैं?


इसी माइलस्टोन में 2021 वर्ष के पहले या दुसरे क्वार्टर में Zeniq coin को किसी मेजर एक्सचेंज पर लांच करने की बात कही गयी हैं. अभी यह समयावधि जून महीने में ही पूरी हो गयी और 2021 वर्ष का चौथा क्वार्टर भी ख़तम होने में हैं पर अभी तक यह कॉइन (?) कहीं भी लिस्टेड नहीं हैं. 


ऐसे ही लिस्टिंग के बारे में बड़े बड़े दावे ECC और EIFI जैसे एमएलएम बेस्ड टोकन के बारे में किये गए थे. लेकिन आज सच्चाई आपके सामने हैं.


ऐसी कई बातें जो इन कंपनियों द्वारा की जा रही हैं गलत साबित होती दिखाई दे रही हैं.


तो क्या भविष्य में आनेवाली Zeniq ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी हो या टोकनायझेशन से आर्ट्स, प्रेशियस मेटल्स (सोना), रियल एस्टेट जैसे प्रोजेक्ट्स में Zeniq टोकन से निवेश कर ऐसे प्रोजेक्ट्स से प्रॉफिट बनाकर कम्युनिटी में शेयर करने की बात हो, आपको कितनी सही लग रही हैं?


मुझे तो इस तरह के दावे केवल निवेशकों को बहलाने फुसलाने का एक जरिया लग रहा हैं...!



क्या Zeniq ब्लॉकचैन वास्तविकता हैं?



यदि Zeniq अपनी ब्लॉकचैन होने का दावा कर रहा हैं तो वह अपना टोकन एथेरेयम ब्लॉकचैन पर क्यों चला रहा हैं? Zeniq Technology अपनी ब्लॉकचैन पर नेटिव टोकन की तरह क्यों नहीं चलाता?


सबसे संदेहास्पद बात यह हैं कि, इस ब्लॉकचैन में प्रति ब्लॉक एक ही Transaction क्यों हो रहा हैं. स्क्रीनशॉट देखिये. 



क्या Zeniq Safir स्कैम हैं?



अब, एथेरेयम प्रति ब्लॉक ट्रांज़ैक्शन एक्स्प्लोरर में देखिये...!



क्या Zeniq Safir स्कैम हैं?




दोनों ब्लॉक एक्स्प्लोरर का अध्ययन करने के बाद अंतर साफ़ नजर आएगा...!


यह Zeniq की वही ब्लॉकचैन हैं जिसके बारे में कंपनी बड़े बड़े दावे कर रही हैं. जबकि, यह ब्लॉकचैन हैं भी या नहीं इसके बारे में मुझे संदिग्धता लग रही हैं. 



क्या भविष्य में Zeniq एक्सचेंज लॉन्च होगा?


जिस तरह अभी तक किये गए दावे गलत साबित हो रहे हैं, बिलकुल उसी तरह इस दावे में भी कोई डैम लगता नहीं हैं. Zeniq Milestone के अनुसार वर्ष 2023 के तीसरी तिमाही तक Zeniq एक्सचेंज लांच होगा!


Zeniq माइलस्टोन के अनुसार अब तक जितनी भी बातें Zeniq वेबसाइट पर लिखी गयी हैं उसमें एक भी अब तक वास्तविकता में उतरती दिखायी नहीं दी हैं.


बस यहीं हाल Zeniq एक्सचेंज का भी हो सकता हैं!


सबसे अहम् बात यह हैं कि, किसी भी एक्सचेंज को पूरी तरह सेटल होने में 3 से 4 वर्षों का समय लगता हैं. अर्थात Zeniq एक्सचेंज को मार्किट में सेटल होने में वर्ष 2027 तक कड़ी मेहनत से लाखो यूजर्स की जरुरत पड़ेगी. 


तो इस एक्सचेंज का प्रमोशन इसके नेटवर्कर्स आज से ही क्यों कर रहे हैं? कहीं यह झुनझुना ज्यादा से ज्यादा लोगों को एमएलएम सिस्टम में आकर्षित करने के लिए तो बजाया नहीं जा  रहा? आप ही सोचिये...!



क्या Zeniq सालों पुरानी कंपनी हैं?


इस आर्टिकल के शुरूआती दौर में ही Zeniq Technology मई 2021 में इंकॉर्पोरेटेड होने के बारे में सप्रमाण बताया गया हैं?


बावजूद इसके यह कंपनी सालों से शुरू होने के दावे इसके टीम लीडर्स करते हैं...!


जिसका प्रमुख कारण हैं Website Domain काफी पुराने हैं. http://zeniq.com 16 वर्ष पूर्व रजिस्टर हुआ हैं और http://safir.com यह Domain name 19 वर्ष पूर्व रजिस्टर हुआ हैं.


लेकिन इसका मतलब यह बिलकुल नहीं कि, यह दोनों भी कंपनियां इतनी पुरानी हैं. यह दोनों भी Domain name सालो पुराने जरूर रजिस्टर हुए हैं. यह दोनों भी कंपनियां इन Domain name की "first owners" नहीं हैं. पहले डोमेन repurchase किये गए फिर बाद में इन कंपनियों के नाम (Domain name के अनुसार) बाद में तय किये गये!


यदि कोई Domain age के अनुसार दोनों कंपनियां पुरानी होने का दावा करता हो तो वह व्यक्ति सफ़ेद झूठ बोल रहा हैं!


क्यूंकि दोनों भी वेबसाइट का statistics देखने पर यह कोई भी समझ जाएगा कि, यह दोनों वेबसाइट बिलकुल नयी बनायीं गयी हैं. 



क्या Zeniq Safir स्कैम हैं?


डोमेन अथॉरिटी (DA) पुराने वेबसाइट की बहोत ज्यादा होती हैं. तुलना में यहाँ DA केवल 20 और 27 हैं. 


दोनों भी वेबसाइट का Spam Score 11% और 17% जो की बहोत ही ज्यादा हैं. इस वेबसाइट ने जो भी कंटेंट्स पब्लिश किये वह plagiarized मतलब चोरी या कॉपी किये हुए हैं...! ऐसी वेबसाइट को गूगल खुद ही ब्लॉक कर देता हैं. आप ही सोचिये यदि यह दोनों भी कंपनियां इतनी बड़ी हैं तो क्या यह अपने कंटेंट्स खुद नहीं बना सकती?



क्या Zeniq टोकन की कम्युनिटी लाखो लोगों की हैं?


Zeniq टोकन की कम्युनिटी मिलियंस लोगों होने का दावा कंपनी और उनके प्रमोटर्स द्वारा किया जाता हैं...! जबकि यह आर्टिकल लिखने तक यह कम्युनिटी केवल कुछ हजार लोगों की दिखाई देती हैं. 


ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी को "ओपन लेजर" कहा जाता हैं. इसकी पॉपुलैरिटी बढ़ने का सबसे अहम् कारण इसकी पारदर्शिता ही हैं! आप खुद एथेरेयम ब्लॉक एक्स्प्लोरर पर जाकर चेक कर सकते हैं. 


तो क्या Zeniq प्रमोटर्स के खोखले दावों को हम मान ले? नीचे दिया गया स्क्रीनशॉट देखिये...!



क्या Zeniq Safir स्कैम हैं?



आप खुद एथेरेयम ब्लॉक-एक्स्प्लोरर पर जाकर चेक कर सकते हैं. 


क्या दुबई की रॉयल फॅमिली Zeniq से जुडी हैं?


यह भी एक दावा कंपनी और उसके टीम लीडर्स द्वारा फैलाया जा रहा हैं कि, दुबई की रॉयल फॅमिली Zeniq से जुडी हैं. इंटरनेट पर कुछ वेबसाइट द्वारा पेड आर्टिकल्स पब्लिश किये गए हैं जो इस मनगढंत कहानी को मजबूत करने में मददगार साबित हुए हैं. दरअसल इन आर्टिकल्स में भी ऐसा स्पष्ट रूप से ऐसा अर्थ नहीं निकलता. लेकिन बखूबी से यह अर्थ निकाला जा सकता हैं...!


2018 में UAE द्वारा ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी कम्पनीज प्रोत्साहन, फंडिंग और सब्सिडीज देने की पालिसी बनायी गयी; क्यूंकि दुबई एशिया का सबसे बड़ा ब्लॉकचैन हब बनें. 



क्या Zeniq Safir स्कैम हैं?


जिसमें Blockchain technology में काम करनेवाली कई स्टार्ट-अप कम्पनीज को दुबई की रॉयल फॅमिली द्वारा सहयोग किया जा रहा हैं. इसीलिए इस टेक्नोलॉजी को प्रोत्साहन देने की दुबई सरकार की पालिसी हैं. लेकिन इसका अर्थ Zeniq token में दुबई की रॉयल फॅमिली की हिस्सेदारी कितनी अहम् हैं इस बात की जानकारी कंपनी द्वारा उपलब्ध नहीं की गयी हैं. 



Zeniq Token यूटिलिटी कितनी कारगर हैं?


जैसे कि, आप जानते हैं, कुछ क्रिप्टोकरेन्सी कॉइन की कीमते आज आसमान छूती नजर आ रही हैं. जैसे BITCOIN, ETHEREUM, TRON, SOLANA की कम्युनिटी को भारी मुनाफा मिला हैं. ये कॉइन आज बहोत बड़ी मात्रा में पॉपुलर भी हो चुके हैं. जिसके मुख्य कारण हैं इन कॉइन की यूटिलिटी और बढ़ती हुयी कम्युनिटी!


उदहारण के लिए SOLANA ब्लॉकचैन और उस पर बनाये जाने वाले Decentralized ऍप्लिकेशन्स की वजह से यह कॉइन कम समय में काफी लोकप्रिय हुआ हैं और आज इसे ETHEREUM का कॉम्पिटिटर माना जा रहा हैं. क्यूंकि इसकी वजह हैं SOLANA द्वारा बनायी गयी आधुनिकतम टेक्नोलॉजी! SOLANA टेक्नोलॉजी विश्वभर के प्रोग्रामर्स और डेवेलपर्स को अपनी ओर आकर्षित करने में कारगर सिद्ध हुयी हैं. जिसकी वजह से इनके कॉइन की यूटिलिटी आसमान तक पहुँच चुकी हैं. 


यूटिलिटी के बारे में अगर कहा जाए तो ZENIQ TOKEN अभी कुछ भी नहीं हैं. जिस Tokenization से वह उसकी कम्युनिटी को आकर्षित कर कई प्रोजेक्ट से बड़ी मात्रा में प्रॉफिट जनरेशन की बात कर रहा हैं, वहां तक पहुँचने में से काफी लंबा वक्त लग सकता हैं.


इस टोकन का MLM मॉडल देखकर ऐसा बिलकुल भी नहीं लगता क्यूंकि इसकी शुरुआत ही कई गलत कमिटमेंट्स से हुयी हैं और या कंपनी 3 से 5 वर्षों का लंबा सफर तय नहीं कर पाएगी.


ऐसी कई कंपनियां केवल बड़ी बड़ी बातें कर लोगों को आकर्षित करने का ही काम करती हैं. 


एमएलएम के माध्यम से लांच किये गए ज्यादातर टोकन/कॉइन आज तक स्कैम ही सिद्ध हुए हैं. इनकी यूटिलिटी और कम्युनिटी लोगों को केवल धोखा देने के लिए ही बनी होती हैं.


इसलिए झूठ के पुलिंदे पर बसा इनका भविष्य कभी भी उज्वल या सफल नहीं होता हैं. मैंने अपने जीवनकाल में आज तक ऐसी एक भी कंपनी नहीं देखी जिन्होंने अपने टोकन के साथ ब्लॉकचैन, एक्सचेंज या जरुरी यूटिलिटी को कंपनी शुरू करते समय ही लांच किया हो.


एमएलएम मॉडल कंपनियां यह सभी बातें फ्यूचर में होने का ही दावा करती हैं. जो की लोगों बरगलाने का जरिया मात्र हैं. 


जिनके पास अपना खुद की क्रिप्टोकरेन्सी कॉइन, ब्लॉकचैन, क्रिप्टो एक्सचेंज या यूटिलिटी आदि जरुरी चीजें पहले से होती हैं वह लोग कभी एमएलएम का सहारा लेकर अपना बिज़नेस प्रमोट नहीं करते. 


रह गयी बात Zeniq टोकन के UniSwap और PanCakeSwap पर ट्रेडिंग होने की, तो कोई भी ERC-20 टोकन का ट्रेडिंग इन पर किया जा सकता हैं. UniSwap या PanCakeSwap पर लिक्विडिटी देकर ऐसी कंपनियां रेट्स को बढ़ाचढ़ाकर दिखा सकती हैं. यहां इस तरह के टोकन के रेट्स में हेरफेर करना बिलकुल संभव हैं. इस पर दिखाए जाने वाले रेट्स का वास्तविकता से कोई लेना देना नहीं होता हैं.


एक बार रेट्स में हेरफेर करने के बाद ऐसी कंपनियां लिक्विडिटी वापस भी ले सकती हैं जिससे भविष्य में टोकन स्वैप करना मुश्किल हो सकता हैं. आप बिलकुल यह कह सकते हैं कि, अपने कचरा मूल्य के टोकन यहां ऐसी कंपनियां सोने के दाम पर बेचकर भारी मुनाफा बना लेती हैं और बाद में अपनी लिक्विडिटी वापिस ले लेती हैं. जिससे भविष्य में टोकन के रेट्स जीरो बराबर आ सकते हैं.  


इसीलिए यदि कोई आपसे कहें की भविष्य में Zeniq टोकन के रेट्स बढ़कर आपको लाखो रुपये मुनाफा हो सकता हैं,  बात पर बिलकुल विश्वास मत रखिये. केवल शुरूआती दौर में कुछ लोग जरूर पैसा बना लेंगे मगर बाद में जो लोग ज्वाइन होंगे वह लोग जरूर अपना पैसा बर्बाद करेंगे. 



बुर्ज खलीफा पर Zeniq के डेकोरेशन की सच्चाई क्या हैं?


 




Zeniq के प्रमोटर्स या नेटवर्क मार्केटिंग लीडर्स अक्सर बुर्ज खलीफा पर Zeniq कंपनी के डेकोरेशन का वीडियो या फोटो दिखाकर यह जताने का प्रयास करते हैं कि, यह कितनी बड़ी कंपनी हैं.


दरअसल बुर्ज खलीफा पर Zeniq का जो प्रमोशन दिखाया गया यह एक 3 मिनट की एडवर्टाइजमेंट हैं, जो पैसे देकर कोई भी कंपनी यह पेड एडवर्टाइजमेंट दिखा सकती हैं.


ऐसे paid Ad campaigns बुर्ज खलीफा पर हर रोज चलते हैं. माना की ऐसे paid Ad campaign को 3 मिनट के लिए पचास लाख रुपये लग सकते हैं. लेकिन दिखावे के लिए यह सब तो करना ही होगा ना? दिखेगा तो बिकेगा...!


लेकिन ऊपर दिखाए गए इंस्टाग्राम पोस्ट में Zeniq Technology के CEO Erwin Dokter यह दिखने की कोशिश कर रहे हैं कि, उनकी ad जैसे उन्हें बुर्ज खलीफा ने कोई रिवॉर्ड दिया हो!


बस, ऐसी कंपनियों में अपनी मेहनत की कमाई दांव पर लगाने से पहले अपनी अंतरात्मा झांककर जरूर देखिये!


यदि आप क्रिप्टोकरेन्सी में आप अपना भविष्य देखते हैं तो खुद होकर कुछ सीखने की तैयारी रखें. अपने दिमाग से अपने क्रिप्टो-एसेट्स बनाइये. यदि आपका WazirX या Binance पर अकाउंट नहीं हैं तो नीचे दिए गए लिंक्स पर क्लिक कर आप अकाउंट ओपन भी कर सकते हैं. 

WazirX पर अपना खाता खोलें 

Binance पर अपना खाता खोलें 

To get more information. Whatsapp me your query to 8766522834




यह आर्टिकल मैंने केवल आप जैसे निवेशकों की जानकारी के लिए लिखा हैं. किसी की भावनाओं ठेस पहुँचाना मेरा उद्देश्य कतई नहीं हैं. इसीलिए मैंने ज्यादा से ज्यादा प्रूफ्स और स्क्रीनशॉट देकर समझाने की कोशिश की हैं. इस आर्टिकल में लिखे गए किसी मुद्दे को लेकर किसी को आपत्ति हो तो कमेंट बॉक्स में जरूर मुझे बताएं. जरुरत पड़े तो मैं इस आर्टिकल में बदलाव भी करूंगा. 


यह आर्टिकल आपको कैसा लगा मुझे फीडबैक जरूर दीजिये!


जय हिन्द!



Post A Comment
  • Blogger Comment using Blogger
  • Facebook Comment using Facebook
  • Disqus Comment using Disqus

No comments :


Current Affairs

[Current Affairs][bleft]

Climate change

[Climate Change][twocolumns]

Lifestyle

[Lifestyle][twocolumns]

Animal Abuse

[Animal Cruelty][grids]