technology

[Technology][bleft]

Health

[Healthcare][bleft]

Business

[Business][bleft]

Network Marketing

[Network Marketing][bleft]

How to keep your Clothes Clean to Avoid Infectious Diseases like Coronavirus?

Click here to read this article in Hindi

 How to keep your Clothes Clean to Avoid Infectious Diseases like Coronavirus?

The most vulnerable to coronavirus are the elderly, and children below 10 years of age. The biggest problem is when a family member is found to be suspected or positive of the coronavirus, So in front of the rest of the family, there is no sole crisis of avoiding infection or living in isolation. Rather, until that family member is free from the coronavirus, many questions arise about drinking, food, and cleaning his dirty clothes.

An important lesson of COVID-19 is that small changes like repeated hand washing have turned into a big change. We have also used the habit of keeping our hands away from our nose or eyes. If symptoms of coronavirus are found in any member of the family, then every member of the family should take even more and different types of precautions. Like its food utensils, crockery should be washed with dishwasher liquid or soap in as much hot water and used again after drying.

In the guidelines issued by the local governments (cleaning in non-healthcare settings), there are guidelines from cleaning the premises around you to cleaning food utensils and dirty clothes. In such a situation, if a member of your family is found to have symptoms of coronavirus, then a strange crisis of washing the clothes of that person also stands before you. 


How long can coronavirus survive in clothes?


Coronavirus is a new disease, so it is difficult to make definite estimates about how long it survives on clothes. However, a study (unpublished in Medical Journals, which appeared in the news and media) found that it can survive in the air for a few hours, can survive on cardboard for 24 hours, for 2-3 days on plastic and stainless steel surfaces can be survived.


In such a situation, if someone in the family is found suspicious of coronavirus, then while washing the clothes of such a person, make sure that you do not touch your face or your eyes and do not forget to wash your hands later. There is no need to wash the clothes of such person and the clothes of other family members separately.

But these clothes can be washed at a temperature of 60° C using powdered detergent. 

If towels are used in your house is a common method, there may be many germs on it. Through this, coronavirus infection can spread quickly. So wash the household towel more often at 60 ° C. If there is a person, who has symptoms of any infectious disease, not just the corona, keep a separate towel for them.


 How to keep your Clothes Clean to Avoid Infectious Diseases like Coronavirus?

Vomiting or feces coming in contact increases the risk of diseases. The most common of these are children's clothes, which you must wash your child's clothes separately at 60 ° C to avoid spreading germs.

Elderly people sometimes hesitate from using a washing machine to save on electricity bills. They often choose low heat settings to save money on electricity bills. But this is not right for the present environment. Washing clothes at low temperatures can prove to be dangerous here.

In modern washing machines, it may take longer to complete the washing cycle. This does not mean that it wastes electricity. In less water, it works by soaking the clothes more and more. It is natural to take a long time to save water. Now is not the time to save money. Now is the time to protect you and your family from infectious diseases like coronavirus due to the clothes. 

You should not worry about cleaning your washing machine after washing the clothes of a person with symptoms of coronavirus. You can continue to clean your washing machine just like you normally do it. Dr. Beckmann and Dettol washing machine cleaners are better germ cleaners.

Coronavirus has taught us a lot. Even how we wash clothes, how to clean utensils, how to wash hands, how many times to wash etc. Modern humans will defeat Coronavirus in the near future. But this learning will also be useful in fighting infectious diseases like dengue, malaria, influenza, which are spreading every year and killing millions of people worldwide.

To keep yourself healthy from infectious diseases, staying clean and pushing dirt away is extraordinary importance. This article has been tried this.












संक्रामक बीमारियों से बचने के लिए अपने कपडे कैसे साफ़ रखें?

 How to keep your Clothes Clean to Avoid Infectious Diseases like Coronavirus?

कोरोना वायरस से सबसे अधिक जोखिम का सामना आपके घर के बुजुर्ग और 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चे कर रहे हैं. सबसे बड़ी  दिक्कत तो तब होती हैं जब परिवार के किसी सदस्य को कोरोना वायरस का संदिग्ध या  पॉजिटिव पाया जाता हैं, तो बाकी के परिवार के सामने संक्रमण से बचने या एकांत (isolation) में रहने का ही एकलौता संकट नहीं होता हैं. बल्कि जब तक वह कोरोना वायरस से मुक्त नहीं होता तब तक उसके खाने पीने से लेकर उसके गंदे कपडे साफ़ करने के बारे में कई सवाल खड़े हो जाते हैं. 

COVID-19 का एक महत्वपूर्ण सबक यह है कि बार बार हाथ धोने जैसे छोटे छोटे बदलाव एक बड़े बदलाव में परिवर्तित हो चुके हैं. अपने हाथों को अपने नाक या आँखों से दूर रखने की आदत भी हम अपने आप को लगा चुके हैं. अगर परिवार में किसी सदस्य में कोरोनावायरस के लक्षण पाए जाते हैं तो ऐसे में परिवार हर सदस्य को इससे भी ज्यादा और अलग प्रकार की सावधानियां बरतनी चाहिए. जैसे की उसके खाने के बर्तन, क्राकरी को डिशवाशर लिक्विड या साबुन से ज्यादा से ज्यादा गर्म पानी में धोना चाहिए तथा सुखाने के बाद ही उसका फिर से उपयोग करना चाहिए.

स्थानीय सरकारों द्वारा (cleaning in non-healthcare settings) जारी किये गए दिशा निर्देशों में आपके आसपास के परिसर की सफाई से लेकर खाने की चीजों तथा गंदे कपड़ों के सफाई के बारे में दिशा निर्देश दिए गए हैं. ऐसे में ऐसे यदि आपके परिवार के किसी सदस्य में कोरोनावायरस के लक्षण पाए जाते हैं तो उस व्यक्ति के पहने हुए कपडे धोने का भी एक अजीब संकट आपके सामने खड़ा हो जाता हैं. 

कोरोनावायरस कितने समय तक कपड़ों में जीवित रह सकता है?

कोरोनावायरस एक नई बीमारी है, इसलिए यह कपड़ों पर कितने दिन तक जीवित रहता हैं इसके बारे में निश्चित अनुमान लगाना कठीण हैं. हालांकि एक (मेडिकल जर्नल्स में अप्रकाशित) अध्ययन (जो न्यूज़ और मीडिया में प्रकाशित हुआ) में पाया गया हैं कि यह कुछ घंटों के लिए हवा में जीवित रह सकता है, कार्डबोर्ड पर 24 घंटे तक जीवित रह सकता हैं और 2-3 दिन तक प्लास्टिक और स्टेनलेस स्टील की सतहों पर जीवित रह सकता हैं.

ऐसे में परिवार का कोई व्यक्ति कोरोनावायरस का संदिग्ध पाया जाता हैं तो ऐसे व्यक्ति के कपडे धोते समय यह सुनिश्चित करें कि अपने चेहरे को या अपने आँखों को छुए नहीं और बाद में अपने हाथ धोने के लिए ना भूलें. ऐसे व्यक्ति के कपडे और परिवार अन्य सदस्यों के कपडे अलग अलग धोने की जरुरत नहीं हैं.

पर इन इन कपड़ों को 60 ° C के तापमान पर पाउडर डिटर्जेंट के इस्तेमाल कर धोये जा सकते हैं. 

यदि आपके घर में तौलिए साझा पद्धति से इस्तेमाल किये जाते हैं तो इस पर कई जर्म्स हो सकते हैं. इसके माध्यम से जल्दी कोरोनावायरस का संक्रमण फैल सकता हैं. इसलिए घर के तौलिये को अक्सर और 60 ° C पर धोएं. यदि कोई ऐसा व्यक्ति है जिसमें केवल कोरोना ही नहीं अन्य किसी भी संक्रामक बिमारी के लक्षण हो, उनके लिए अलग से तौलिया रखिये. 


 How to keep your Clothes Clean to Avoid Infectious Diseases like Coronavirus?

उल्टी या मल के संपर्क में आने वाली कोई भी वस्तु बीमारियों का जोखिम बढ़ाती हैं. इनमें से सबसे आम बच्चों के कपड़े हैं, जिन्हें आप अपने बच्चे को, फैलने वाले कीटाणुओं से बचने के लिए 60° C पर अलग से धोना जरुरी हैं. 

बुजुर्ग लोग कभी-कभी बिजली के बिल को बचाने के लिए वॉशिंग मशीन का उपयोग करने से कतराते हैं. बिजली के बिल पर पैसे बचाने के लिए वे अक्सर कम हीट सेटिंग्स का चयन करते हैं. मगर यह अभी के माहौल के लिए बिलकुल ठीक नहीं हैं. यहाँ पर कम तापमान पर कपडे धोना खतरनाक साबित हो सकता हैं.

अधिकांश वायरस 60° C से अधिक तापमान में जीवित नहीं रहते हैं, इसलिए आप इस सेटिंग के विकल्प चुन सकते हैं. विशेष रूप से तौलिए, बिस्तर, स्नान तौलिए, दस्ताने, स्कार्फ और बच्चों के कपड़े. 

आधुनिक वाशिंग मशीन में वाशिंग साइकिल को पूरा करने में अधिक समय लग सकता हैं. इसका मतलब यह नहीं है कि इससे बिजली बर्बाद होती हैं. कम पानी में यह कपड़ों को ज्यादा से ज्यादा भिगोने का काम करता हैं. पानी के बचत के लिए भी यह समय लगना स्वाभाविक हैं. अभी यह समय पैसे बचाने का नहीं हैं. अभी तो इन कपड़ों से आपको तथा आपके परिवार को कोरोनावायरस जैसे संसर्गजन्य बीमारियों से बचाने का वक़्त हैं. 


अत्यधिक गर्मी और ठंड में बैक्टीरिया की संख्या को बढ़ने से रोका जा सकता हैं. इसलिए जब आप कोरोनावायरस या अन्य संक्रमित बिमारी के रोगी के कपडे धो रहे हो तो अतिरिक्त कदम उठाएं और धोये गए कपड़ों को २० मिनट के लिए अतिरिक्त गर्मी के साथ अपने टम्बल ड्रायर में डाल दें. 

आप किसी कोरोनावायरस के लक्षणों वाले व्यक्ति के कपडे धोने के बाद अपनी वाशिंग मशीन को क्लीन करने के बारे में चिंता ना करें. आप अपनी वॉशिंग मशीन को साफ करना जारी रख सकते हैं जैसा कि आप सामान्य रूप से इसे करते हैं बिलकुल वैसे ही. Dr. बेकमैन एवं डेटोल वाशिंग मशीन क्लीनर बेहतर जर्म क्लीनर्स हैं.

कोरोनावायरस ने हमें काफी कुछ सीख दी हैं. यहाँ तक कि हम कपडे कैसे धोएं, बर्तन कैसे साफ़ करें, हाथ कैसे धोएं, कितनी बार धोएं इत्यादि. आधुनिक मानव आज नहीं तो कल कोरोनावायरस को परास्त करेगा ही. मगर हर साल फैलने वाले और दुनियाभर में लाखों लोगों की जान लेने वाले संक्रामक रोग जैसे डेंगू, मलेरिया, इन्फ्लुएंजा, के साथ लड़ने में भी यह सीख काम में आएगी. संक्रामक बीमारियों से अपने आप को स्वस्थ रखने के लिए साफ़ सुथरा रहना और गंदगी को दूर धकेलने का एक अनन्यसाधारण महत्व हैं. इस आर्टिकल की कोशिश यही रही हैं. 



Post A Comment
  • Blogger Comment using Blogger
  • Facebook Comment using Facebook
  • Disqus Comment using Disqus

No comments :


Current Affairs

[Current Affairs][bleft]

Climate change

[Climate Change][twocolumns]

Lifestyle

[Lifestyle][twocolumns]

Animal Abuse

[Animal Cruelty][grids]