technology

[Technology][bleft]

Health

[Healthcare][bleft]

Business

[Business][bleft]

Network Marketing

[Network Marketing][bleft]

AMAZON FOREST FIRE (Hindi)


https://www.growideindia.com/2019/08/amazon-forest-fire-hindi.html

amazon forest animals


AMAZON FOREST FIRE (Hindi)


We are losing species,

we do not even know about…

amazon forest rain


अमेज़ॅन दुनिया का सबसे बड़ा वर्षा वन है, इस प्राकृतिक वर्षा वन से उपजे इन जंगलों में साल में 6 महीने बारिश होती है. ये जंगल इतने घने हैं कि कई जगहों पर सूरज की रोशनी को जमीन देखना तक नसीब नहीं होता.

AMAZON FOREST FIRE (Hindi)

दुनिया भर में पौधों द्वारा उत्पादित कुल ऑक्सीजन का लगभग 20 प्रतिशत हिस्सा इन्ही वनों से उपजे पेड़ पौधे की देन  होती हैं.


ये वन पृथ्वी पर ऑक्सीजन की मात्रा को प्राकृतिक रूप से बेहतर संतुलन बनाने में अपना मौलिक योगदान देते हैं. इसीलिए शायद इन जंगलों को दुनिया के फेफड़े कहा जाता हैं. यहां मिलने वाली जैव विविधता का हिस्सा पूरी दुनिया के १०% हैं. इसलिए अमेज़न के जंगल इस धरती को मिली मौलिक विरासत जानी जाती हैं.


https://www.growideindia.com/2019/08/amazon-forest-fire-hindi.html


मगर गत कुछ वर्षों से आपराधिक गतिविधि और मनुष्यों के लालच भरी दृष्टिकोण की वजह से, ये प्राकृतिक खजाना खतरे में पड़ा हैं. इन दिनों सोशल मीडिया पर मृत जंगली पक्षियों और जानवरों की कई दिल दहला देने वाली तस्वीरें शेयर हो रही हैं. किसी भी जीव प्रेमी के लिए ये काफी दुखद हैं.


https://www.growideindia.com/2019/08/amazon-forest-fire-hindi.html
Image source Twitter


पिछले एक पखवाड़े में, विभिन्न देशों में फैले अमेज़न के जंगलों में लगी भीषण आग की दस हज़ार से अधिक घटनाएं सामने आयी हैं. आग में अब तक हजारों पक्षी, जानवर और दुर्लभ पौधे जल कर राख हो चुके हैं.


https://www.growideindia.com/2019/08/amazon-forest-fire-hindi.html
Image source Twitter



https://www.growideindia.com/2019/08/amazon-forest-fire-hindi.html
Image source Twitter


इस आग से अमेज़ॅन के प्रदेशों में तथा ब्राज़ील के रोडानिया और साओ पाउलो शहरों पर धुएं का गुबार छाया हुआ हैं. ब्राजील में आग से सबसे अधिक नुकसान हुआ, जिससे आग के गुबार २७०० किलीमीटर दूर साओ पाओलो शहर तक पहुँच गए हैं और वहां दोपहर में अँधेरे का साम्राज्य छा गया था.


https://www.growideindia.com/2019/08/amazon-forest-fire-hindi.html
Image source NASA


वैसे तो अमेज़न के जंगलों में जुलाई से लेकर अक्टूबर तक सूखा होता हैं और ऐसे सूखे मौसम में आग लगना एक आम बात हैं. इन महीनों में आग लगने की हजारों घटनाये सामने आती रहती हैं और ये भयंकर होती हैं और दूर दूर तक धुआं फैल जाता है.

मगर इस साल आग लगने की मात्रा में काफी बढ़ोतरी देखी गयी हैं. पिछले वर्ष २०१८ की तुलना में इस वर्ष ८०% अधिक मात्रा में आग लगने की घटनाएं सामने आयी हैं जो की एक रिकॉर्ड हैं.

विश्व मौसम विज्ञान संगठन के अनुसार, उत्तर-पश्चिम में इन जंगलों में लगी आग ने अटलांटिक तट से हजारों किलोमीटर दूर ब्राजील के रियो डी जेनेरियो तक धुआं फैला दिया है. कई शहरों में मौसम गहरा हो रहा था. ब्राजील के साथ-साथ बोलीविया और पेरू तक का प्रदेश इस धुएं से प्रभावित हुआ हैं.

ये आग प्रति मिनट १.५ square feet से आगे बढ़ती जा रही हैं, जिससे इस भयंकर आग की कल्पना की जा सकती हैं.



ब्राजील के एक शोध संस्थान INPE ने अमेज़न के जंगलों में लगने वाली आग के बारे में जानकारी एकत्र करना शुरू किया। INPE के आंकड़ों के अनुसार,कुछ वर्षों में लगी आग के आंकड़े जो सामने आये हैंइनमें से आधी से अधिक घटनाएं अकेले ब्राजील के सीमा के भीतर अमेज़न के जंगल में हुईं.





अमेज़ॅन वर्षावनों की सुरक्षा का मुद्दा कई वर्षों से पर्यावरण संगठनों द्वारा उठाया जा रहा हैं. जंगल की व्यवस्था को अक्सर आग, पेड़ की अवैध कटाई जैसे मुद्दे लगातार आहत कर रहे हैं, मगर ब्राजील सरकार ने इन शिकायतों को नजरअंदाज किया और औद्योगीकरण के लिए परमिट देना जारी रखे.




अमेज़न जंगल में लगी आग की इस घटना ने ब्राज़ील सरकार को जिम्मेदार ठहराया जा रहा हैं, मगर ब्राज़ील सरकार इस बात का दोष एनजीओ पर मढ़ दिया हैं. ब्राज़ील के प्रधानमंत्री एनजीओ पर आरोप लगाते हैं की वह पैसों के लिए काम कर रहे हैं.

तथ्यों के आधार पर यह कहा जा सकता हैं की ब्राझिल की सरकार पर्यावरण संगठनो द्वारा बार बार चेतावनी देने के बाद भी उन्हें गंभीरता से नहीं ले रही हैं. जिसका एक बड़ा कारण Mercosur (Southern Common Market) के सदस्य जिसमे अर्जेंटीना, ब्राजील, उरुग्वे और पराग्वे  तथा यूरोपीय मुक्त व्यापार संघ (EFTA), जिसमे स्विट्जरलैंड, नॉर्वे, आइसलैंड और लिकटेंस्टीन द्वारा गठित एक व्यापारिक समझौते को बताया जा रहा हैं.

aluminum oxides और hydroxides, सोना जैसे धातु के उत्खनन और soybeans एवं Coffee beans की पैदावार करने के लिए जंगलों को असीमित काटकर उसे जमीन को समतल बनाया गया.


इस समझौते के तहत वर्ष २०१६ में ब्राज़ील ने १.८ बिलियन डॉलर्स की निर्यात की थी. पर्यावरण संगठनों के सुझावों को अनदेखी के पीछे युरोपियन यूनियन का दबाव काफी ज्यादा महत्त्व रखता हैं.

जिम्मेदार चाहे कोई भी हो, नुकसान तो केवल अमेज़न की जैविक समृद्धि और वहां बसने वाले सेंकडो आदिवासी प्रजातियों को हो रहा हैं.


अगर ऐसे ही चलता रहा तो आनेवाले कुछ सालों बाद पृथ्वी के पर्यावरण के लिए बेहद खतरनाक सिद्ध हो सकता हैं, जिसके परिणामस्वरूप पूरी दुनिया की जीव प्रजाति खतरे में आ सकती हैं.


अमेज़ॅन वर्षावनों को नष्ट करने वाली आग ना केवल दिल दहलाने वाली हैं, बल्कि वह एक अंतरराष्ट्रीय आपदा हैं. हम उन्हें नियंत्रण में लाने के लिए और पृथ्वी के सबसे बड़े अजूबों को बचाने के लिए सभी ने आगे आना जरुरी हैं.



Long live Amazon!

Amazon Forest Video






amazon forest, amazon forest animals, animals of amazon forest, amazon forest video, amazon forest videos, where is amazon forest, images of amazon forest, amazon forest location, amazon forest rain, amazon forest map, amazon forest images, amazon forest people, amazon forest in which country, amazon forest country, amazon forest which country, photos of amazon forest,


Post A Comment
  • Blogger Comment using Blogger
  • Facebook Comment using Facebook
  • Disqus Comment using Disqus

No comments :


Current Affairs

[Current Affairs][bleft]

Climate change

[Climate Change][twocolumns]

Lifestyle

[Lifestyle][twocolumns]

Animal Abuse

[Animal Cruelty][grids]