technology

[Technology][threecolumns]

Health

[Healthcare][bleft]

Business

[Business][twocolumns]

Network Marketing

[Network Marketing][grids]

इंसान में दिखे जानवर और जानवर में दिखे इंसानियत की दो कहानियां... (Hindi)

इंसान में दिखे जानवर और जानवर में दिखे इंसानियत की दो कहानियां...  (Hindi)

यूँ तो हम बड़े गौरव के साथ अपने आप को इंसान और पृथ्वि का सबसे शक्तिशाली जीव मानते हैं. हमें जो बुद्धिमत्ता या समझ प्राप्त हैं, उससे हम इस बात का ज्ञान रखते हैं किक्या अच्छा या क्या बुरा, क्या मानवीय या अमानवीय.... 

मानवीय उत्क्रांति में इंसान का आदिम जीवों से शुरू हुआ यह सफर उसे 21 वीं  सदी तक आगे ले जाने में कामयाब तो जरूर हुआ मगर जिस प्राकृतिक सह जीवन से वह यहाँ तक पहुंचा उससे कई बाते पीछे छुटटी नजर आ रही हैं. हमारा सफर जानवर से इंसानों तक शुरू तो हुआ था मगर हमारे अहंकारी प्रवृत्ति ने शायद इस सफर को उल्टा कर दिया हैं.

आज के इस आर्टिकल में दो अलग अलग सत्य कहानियां हैं. पहली हैं इंसान में छिपे जानवर की और दूसरी हैं जानवर में छिपे इंसान की.

इंसानों में दिखे जानवर की कहानी...!

जेफरसन काउंटी, पेन्सिलवेनिया के दो किशोर जिन्होंने शिकार कर हिरणों के साथ अमानवीय व्यवहार का एक वीडियो बनाया हैं. इन दो किशोरों पर पर जानवरों के साथ क्रूरता के गंभीर आरोप लगाए गए हैं.


उन पर लगे आरोपों के बाद बड़ी संख्या में जनक्षोभ का सामना करना पड़ रहा हैं.

ब्रुकविले के 17 साल के एलेक्स स्मिथ और 18 वर्षीय कोडी हेट्रिक को समाचार विज्ञप्ति के अनुसार शुक्रवार को पेन्सिलवेनिया गेम कमीशन और जेफरसन काउंटी डिस्ट्रिक्ट अटॉर्नी कार्यालय द्वारा आरोप दाखिल कर लिया गया हैं.


स्नैपशॉट पर पोस्ट किए गए इस वीडियो को फ़ेसबुक पर पोस्ट किए जाने और तेज़ी से वायरल होने के बाद लोगों में नाराजगी एवं गुस्सा उमड़ आया. इसके बाद दायर किये गए एक याचिका में कानून द्वारा इन दो किशोरों पर आपराधिक अपराधों जैसे कड़े आरोप लगाने और अधिकतम सजा लागू करने के लिए 738,000 से अधिक हस्ताक्षर किए गए.

स्मिथ और हेट्रिक को अब पशु क्रूरता के दो मामलों का सामना करना पद रहा पड़ रहा हैं. पशु क्रूरता की सजा  कम करने के लिए सबूतों के छेड़छाड़ करने का मामला आगे आने से अब इस मसले में  भी कानूनी करवाई का सामना करना पड़ रहा हैं.


अगर दोषी ठहराया जाता है, तो स्मिथ 37 से अधिक वर्षों की अधिकतम जेल की सजा का सामना कर हेट्रिक, जो अभी भी कानूनी रूप से एक किशोर है,  उसकी सजा किशोर न्यायालय प्रणाली के अनुसार निर्धारित होगी.

यॉर्क डेली रिकॉर्ड की रिपोर्ट के अनुसार, 50,000 डॉलर की जमानत के बाद स्मिथ को रिहा कर दिया गया.

पोस्ट की गई वीडियो फुटेज में दिख रहा हैं कि युवक घायल हिरण को बार-बार लात मारते हैं और फिर अपनी इस कृति पर हंसकर आनंद जाता रहे हैं. एक तरफ उस प्राणी की आखरी सांस चल रही हैं, दूसरी ओर इंसानी रूप में आसुरी आनंद लिया जाना किस प्रवृत्ति का लक्षण हो सकता हैं?

पेन्सिलवेनिया बोर्ड ऑफ गेम कमिशनर के अध्यक्ष टिम लेटन ने अपनी प्रेस विज्ञप्ति में कहा, "यह समझना आसान है कि लोग घटना से क्यों नाराज थे; लेकिन सबसे खराब स्थिति इस केस की जाँच ने यह सिद्ध कर दिया की यह केस उतना मजबूत कोर्ट के सामने नहीं आया, जितना हो सकता है.

जानवर में दिखे इंसानियत की कहानी...!

पैटसी की तस्वीर, सौजन्य एसबीएस न्यूज़ 

ऑस्ट्रेलिया में लगी भयानक झाड़ियों की आग ने 50 करोड़ से ज्यादा जंगली एवं पालतू जानवरों की जलकर मृत्यु होने की खबर हैं. भले ही ऑस्ट्रेलिया सरकार को देर से सही मगर इस आग की भयावहता समझ आयी. उसके बाद जोरों से इस आग को बुझाने में मानवी प्रयास जारी हैं. एक तरफ मानवी प्रयासों में विख्यात जीव प्रेमी स्टीव इरविन के परिवार ने 90,000 से ज्यादा जीवों को इस आग में जलने से बचाया वहीँ पर प्राणियों में भी अन्य प्राणियों के प्रति 'इंसानियत' उमड़ आयी हैं.




ऐसी ही एक सत्य घटना हैं ऑस्ट्रेलिया से, जहाँ एक श्वान ने 220 से ज्यादा भेड़ों की जानें बचाई हैं. इस हीरो शीपडॉग का नाम हैं पैटसी.


स्टीफन हिल नामक चरवाहे ने अपने कुत्ते को 220 से ज्यादा भेड़ों की जान बचाने श्रेय दिया गया हैं.

पैटसी की  गंध सुनने की क्षमता और अँधेरे में स्पष्ट रूप से देख पाने की वजह से वह आग के इर्द गिर्द के भेड़ियों के समूह को पहचान लेती थी फिर वहां से उस झुंड को खदेड़ कर सुरक्षित जगह लाती थी. इस हादसे में केवल 6 भेड़ों को अपनी जान गंवानी पड़ी, बची हुयी 220 भेड़े पैटसी के प्रयासों से सुरक्षित बहार निकाली गयी.

मानवों ने श्वान जैसे शानदार जीवों जो कुछ दिया हैं, उसका ऋण यह जरूर चुका देते हैं. देते हैं, इतना ही नहीं, इंसानों पर कई अहसान करने के भी उदाहरण पाएं जाते हैं.

इसलिए आपके इर्द-गिर्द रहनेवाले प्राणियों पर हमेशा प्रेम कीजिये. खुद होकर किसी भी प्राणी पर अत्याचार ना करें, और अन्य लोगों को प्राणियों पर अत्याचार करने भी ना दे.


Post A Comment
  • Blogger Comment using Blogger
  • Facebook Comment using Facebook
  • Disqus Comment using Disqus

No comments :


Current Affairs

[Current Affairs][bleft]

Climate change

[Climate Change][twocolumns]

Lifestyle

[Lifestyle][twocolumns]

Animal Abuse

[Animal Cruelty][grids]