technology

[Technology][threecolumns]

Health

[Healthcare][bleft]

Business

[Business][twocolumns]

Network Marketing

[Network Marketing][grids]

Laparoscopic surgery led to revolutionary improvement in medicine


Laparoscopic surgery led to revolutionary improvement in medicine


Many times, doctors have to undergo surgery on a patient suffering from a serious illness. In the earlier times, on the body part where surgery has to be done, big cuts of 6 to 12 inches had to be applied to it. Large parts of the body had to be cut. Due to which, after the operation, many times its marks were retained.

But after the emergence of laparoscopy, now no more incisions have to be made on any part of the body to perform surgery. Also, surgery has also become easier, such information was given by Dr. Pradeep Sharma, Laparoscopic Surgeon and Senior Consultant of Inamdar Hospital, Pune.

According to Dr. Sharma, this is a fairly new and researched technique. This procedure is known as laparoscopy due to a laparoscope. A thin device with a small video camera attached to the light at the end. When a surgeon inserts this device into your body through a small cut, he can see the inside of your body on a video monitor to see what is happening inside you. Without these tools, they would have had to cut your body more.

Seeing in your body, doctors can perform surgery on various organs located in the body. The special thing is that the camera fitted for the surgery equipment is so sophisticated that it also records the symptoms of even the smallest disease present in the body. Due to which the amount of success of surgeries through laparoscopy has increased considerably. In this surgery, the success of surgeons with laser and stapler has increased significantly.

Earlier treatment under this technique was only in relation to gall bladder and gynecology. But now its scope is expanding and this technique is also being used in small and big intestinal surgeries present in the liver and body.

In this technique, surgery is done by applying only half-inch cuts on the patient's body. After a few days of the operation, the patient's body does not even show its marks.

Dr. Sharma says that in the technique of laparoscopy surgery, the patient recovers much faster than before, due to which he is discharged from the hospital soon. Also, due to this surgery, one has to spend less on medicines than before.

With laparoscopy, the patient can get back to work soon after recovering and can live his normal life.

Benefits of laparoscopy:


  • Compared to traditional surgery, this surgery has proved to be very beneficial because in it your body is cut to a minimum.
  • There are small scars of surgery on your body.
  • You can leave the hospital early and start your work.
  • You have less pain.
  • You soon start doing your normal activities.
For example, if you are doing intestinal surgery in traditional surgery, you may have to spend a week or more in the hospital. It may take 4 to 8 weeks for you to recover completely. But if you do laparoscopic surgery, you will have to stay in the hospital for only 2 nights and you will be cured in 2 or 3 weeks. This can reduce your expenses of staying in the hospital.

Colorectal surgery is also important


An important technique of medicine is 'colorectal surgery'. This technique is proving effective in the context of diseases such as cancer, piles, fissures, fistula, pilonidal sinus, Crohn's disease, diverticulosis, which occur in the large intestine, rectum, and the excreta. With this technique, patients are recovering as soon as possible.

Endochronic surgery


This surgery is proving to be very helpful in curing diseases of the endocrine glands present in the body such as thyroid, parathyroid, adrenals, and pancreas. This technology of medicine is now bringing revolutionary changes in the lives of patients.













Click here to read this article in English

लैप्रोस्कोपी सर्जरी से चिकित्साशास्त्र में हुआ क्रांतिकारी सुधार


Laparoscopic surgery led to revolutionary improvement in medicine

कई बार किसी गंभीर बीमारी से ग्रस्त मरीज पर डॉक्टरों को सर्जरी करनी पड़ती है. पहले के समय में शरीर के जिस अंग पर सर्जरी करनी होती है, वहां पर 6 से 12 इंच के बड़े कट्स लगाने पड़ते थेशरीर के बड़े हिस्से को चीरे लगाने पड़ते थे. जिससे ऑपरेशन के बाद कई बार उसके निशान कायम रह जाते थे

लेकिन लेप्रोस्कोपी का उदय होने के बाद अब सर्जरी करने के लिए अब शरीर के किसी भी अंग पर ज्यादा चीरे लगाने नहीं पडतेसाथ ही सर्जरी करना आसान भी हो गया है, ऐसी जानकारी पुणे के इनामदार अस्पताल के लैप्रोस्कोपिक सर्जन तथा सीनियर कन्सल्टंट डॉ. प्रदीप शर्मा ने दी.

डॉ. शर्मा के अनुसार, यह काफी नयी और अनुसंधानित तकनीक है. लेप्रोस्कोप की वजह से इस प्रक्रिया को लैपरोस्कोपी नाम से जाना जाता हैं. एक पतला उपकरण जिसमें अंत में एक छोटा वीडियो कैमरा प्रकाश के साथ जुड़ा होता हैं. जब एक सर्जन इस उपकरण को आपके शरीर को एक छोटा कट कर उसके के माध्यम से आपके शरीर में डालता है, तो आपके शरीर के अंदर के अंदर के भाग को एक वीडियो मॉनिटर पर देख सकते हैं कि आपके अंदर क्या हो रहा हैं. उन उपकरणों के बिना, उन्हें आपके शरीर को ज्यादा काटने की जरुरत पड़ती थी. 

जिसे देखकर डॉक्टर शरीर के अंतरंग में स्थित विभिन्न अंगों पर सर्जरी कर सकते है. खास बात यह कि, सर्जरी के उपकरण लगने वाला कैमरा इतना अत्याधुनिक है कि, शरीर में मौजूद किसी छोटी से छोटी बीमारी के लक्षण को भी दर्ज कर लेता है. जिससे लैप्रोस्कोपी के माध्यम से होने वाली सर्जरियों के सफलता की मात्रा काफी बढ़ गई है. इस सर्जरी में लेजर और स्टेपलर से सर्जरियों के सफलता काफी बढ़ गई है.

इस तकनीक के तहत पहले इलाज केवल पित्ताशय तथा स्त्रीरोगों के संबंध में होता था. लेकिन अब इसका दायरा बढ़कर लीवर तथा शरीर में मौजूद छोटी और बड़ी आंतों की सर्जरी में भी इस तकनीक का इस्तेमाल हो रहा है.

इस तकनीक में मरीज के शरीर पर केवल आधे इंच के कट्स लगाकर सर्जरी की जाती है. ऑपरेशन के कुछ दिनों के बाद मरीज के शरीर पर उसके निशान भी दिखाई नहीं देते.

डॉ. शर्मा का कहना हैं कि, लैप्रोस्कोपी सर्जरी की तकनीक में मरीज पहले से काफी तेजी से ठिक होता है, जिससे उसे अस्पताल से जल्द छुट्टी मिल जाती है. साथ ही इस सर्जरीके चलते पहले से कम दवाईयों पर खर्च करना पड़ता है.

लैप्रोस्कोपी से मरीज जल्द स्वस्थ होकर अपने काम पर लौट सकता है और पहले करी तरह अपना आम जीवन व्यतीत कर सकते है.

लेप्रोस्कोपी के फायदे:



  • पारंपरिक सर्जरी की तुलना में इस यह सर्जरी काफी फायदेमंद साबित हुयी हैं क्यूंकि इसमें आपके शरीर को कम से कम काटा जाता हैं. 
  • आपके शरीर पर सर्जरी के छोटे से छोटे निशान होते हैं. 
  • आप अस्पताल से जल्दी निकलकर अपने काम पर  लग सकते हैं. 
  • आपको दर्द काफी कम होता हैं. 
  • आप जल्द ही अपनी सामान्य गतिविधियां करने लगते हैं. 

उदहारण के तौर पर, पारंपरिक सर्जरी में आप यदि आंतों की सर्जरी करते हैं तो एक सप्ताह या उससे अधिक समय आपको अस्पताल में बिताना पड़ सकता हैं. आपको पूरी तरह से रिकवर होने में 4 से 8 सप्ताह का समय लग सकता हैं. पर यदि आप लेप्रोस्कोपिक सर्जरी करते हैं, तो आपको अस्पताल में केवल 2 रात रहना पडेगा और आप 2 या 3 सप्ताह में ठीक हो जाएंगे. जिससे अस्पताल में रहने का आपका खर्च भी कम हो जाएगा. 

कोलोरैक्टल सर्जरी भी है अहम


चिकित्साशास्त्र की एक अहम तकनीक हैकोलोरैक्टल सर्जरी’. इसके तहत बड़ी आंत, मलाशय तथा मलनलिका में होने वाले कैन्सर, पाइल्स, फीशर, फिस्टुला, पिलॉनिडल साइनस, क्रॉहन डिसीज, डाइवर्टिकुलॉसीस जैसी बीमारियों के संदर्भ में यह तकनीक कारगर साबित हो रही है. इस तकनीक से मरीज जल्द से जल्द ठिक हो रहे है.

एन्डोक्रॉनिक सर्जरी


यह सर्जरी शरीर में मौजूद अंत:स्त्रावी ग्रंथियों की बीमारियां जैसे थाइरॉईड, पैराथायरॉइड, एड्रिनल्स तथा पैनक्रियाज जैसी गंभीर बीमारियों को ठिक कराने में काफी मददगार साबित हो रही है. आयुर्विज्ञान की यह तकनीक अब मरीजों की जीवन में क्रांतिकारी परिवर्तन ला रहे है


Post A Comment
  • Blogger Comment using Blogger
  • Facebook Comment using Facebook
  • Disqus Comment using Disqus

3 comments :

  1. I admire this article for the well-researched content and excellent wording about the Laparoscopic Surgery. I got so involved in this material that I couldn’t stop reading. I am impressed with your work and skill. Thank you so much. Top Laparoscopic Surgery in india

    ReplyDelete
  2. You have shared a nice article here about the laparoscopic surgery. Your article is very informative and nicely describe. I am thankful to you for sharing this article here. laparoscopic surgeon in raja park jaipur

    ReplyDelete
  3. Thanks for sharing the article dear. It’s really informative. I want to know more about laparoscopic surgery. It’s really helpful for me. Laparoscopic liver resection is a minimally invasive approach to the liver resection procedure. It is performed under general anesthesia. For larger tumors or tumors located deeper within the liver, an open procedure is necessary. Dr.Soumen Roy is a good doctor in Odisha Laparoscopic Surgery. Thanks to you for the informative article.

    ReplyDelete


Current Affairs

[Current Affairs][bleft]

Climate change

[Climate Change][twocolumns]

Lifestyle

[Lifestyle][twocolumns]

Animal Abuse

[Animal Cruelty][grids]